Categories
Uncategorized

तुम मेरा चेहरा जला सकते हो,        मेरी हिम्मत को नहीं।

घर एक ऐसी जगह है जहा हम सब खुद को बहुत महफूज़ समझते है | सुरक्षित रहने और आगे बढ़ने के लिये इस दुनिया में ‘परिवार’ सभी की सबसे महत्वपूर्ण आवश्यकता है। किसी के भी जीवन में परिवार की कई सारी महत्वपूर्ण भूमिकाएँ होती है। माता –पिता हमारे आदर्श और भाई –बहन हमारे सबसे अच्छे दोस्त | और जो घर का सबसे छोटा हो उसके तो क्या कहने सब उसकी ख्वाइशों को पूरा करते है | और यु ही ज़िन्दगी का पहिया चलता जाता है और फिर उम्र के साथ साथ बचपना कहीं पीछे छूट जाता है और अचानक परिवार में कुछ खुशिया आती है जब घर के बेटे की शादी होती है और एक नया सदस्य(भाभी) हमारे परिवार के साथ आ जुड़ता है |

पर क्या ये टुकड़ा जो अब तक हमसे जुदा था हमारे परिवार में खुद को जोड़ पता है? क्या वह भी हमे इतना स्नेह दे पाता है , जितना आज तक हमे हमारा परिवार देता रहा है ? क्या वो हमारी खुशियों में खुश और गम में उदास होता है? तो शायद हमेशा ऐसा नहीं हो पाता |

ऐसी ही एक कहानी है सिया पारकर की है जिनका जन्म मुंबई में ही हुआ और जो अपने घर में सबसे छोटी और सबसे लाडली थी, बहुत छोटी उम्र में ही उनके सर से उनके पिता का साया हट गया परन्तु उनके बड़े भाई ने कभी उन्हें एक पिता की कमी का एहसास न होने दिया | उन्होंने अपनी बहन की हर ख्वाइश को पूरा किया | सिया को तयार होने का बहुत शौक था| पर इतनी खुशियों के बीच कुछ तो था जो अच्छा नहीं था और वो था सिया और उनकी भाभी का एक दुसरे के प्रति व्यवहार | निरंतर कोशिशो के बाद भी वह आपसी मतभेदों को सुलझा नहीं पा रहे थे और परिवार भी इसे छोटी छोटी बातें कहकर अकसर नज़रंदाज़ करदिया करता था | “पर एक छोटी सी चिंगारी कब एक ज्वाला का रूप ले ले कोई नहीं कही सकता |” और ऐसा ही हुआ जब एक दिन घर के कुछ आपसी झगड़ो को सुलझाने का प्रयास करते हुए वह स्वयं उस दुर्घटना का एक महत्वपूर्ण किस्सा बन कर रह गई | उनकी भाभी ने गुस्से में आकर पूरा केरोसिन उन पर डाल दिया और सबके सामने ही उन्हें ये कहते हुए जला दिया कि सब तेरी वजह से हुआ है अगर तू न होती तो कुछ बुरा नहीं होता| वो सबके सामने वहा तड़पते –तड़पते बेहोश होगई और जब आँख खुली तो उन्होंने खुद को अस्पताल में पाया| तीन महीनो तक वह अस्पताल में इस दर्द को झेलती रही, रोती रही , तड़पती रही पर उससे भी ज्यादा अफ़सोस तब हुआ जब उन्हें मालूम हुआ कि उनकी ऐसी दशा करने के लिए जो ज़िम्मेदार है उसे कोई पछतावा नहीं कोई शर्मिंदगी नहीं |

वह अपनी इस दयनीय हालत के लिए अपनी भाभी को सज़ा दिलवाना चाहती थी पर ऐसे समय में उनके परिवार ने भी उनका साथ ये कहते हुए नहीं दिया की तेरी भाभी 2 महीने की गर्भवती है अगर उनको जेल में डाला तो उस नवजात शिशु का क्या होगा? आज इसी वाख्या को याद करते हुए सिया बोलती है कि :

“मेरी माँ ने उसके बारे में सोचा जो अभी इस संसार में आया भी नहीं है पर अपनी बेटी का ख्याल उन्हें एक बार भी नहीं आया जिसकी सांसे तो चल रही है पर वो एक जिंदा लाश बनकर रह गयी है|”

दो साल पहले उनकी माँ का साया भी उनके सर से उठ गया | समाज में निकलकर बहार आना लोगो का सामना करना उनके लिए बहुत मुश्किल था , उनका कहना था की इस सब के बाद कोई नहीं था जिसे वो अपना कह पाती , जिनके पास बैठकर वो रो कर अपना मन हल्का कर लेती | उनकी ऐसी हालत की वजह से वह मानसिक तोर पर भी अस्वस्थ रहने लगी | समाज ने उन्हें सहारा नहीं दिया जब उन्हें सहारे की ज़रूरत थी और न ही उनके अपने परिवार ने |परन्तु “कोशिश करने वालो की कभी हार नहीं होती”, उनका कहना है कि “मनोहर जी जो की आसरा फाउंडेशन से जुड़े हुए है उन्होंने मुझे एक नयी दिशा दिखाई व मुझमे फिर से आत्म –विश्वास पैदा किया यह कहकर कि समाज क्या सोचता है उसे सोचने और बोलने दो , तुम वो करो जो तुम अपने जीवन में करना चाहते हो|” और आज मैं अपने सपनो की नयी सीढ़ी पर चड़ने को तयार हूँ |

सिया हमारे समाज में हो रही घरेलु हिंसा का साक्षात् उदहारण है | परन्तु उनके इस जज़्बे और ज़िन्दादिली को हम शत-शत प्रणाम करते है व आज की युवा पीढ़ी को यह कहना चाहते है कि “ज़ुल्म करना गुनाह है पर ज़ुल्म सहना उससे भी बड़ा गुनाह है|

By VISHAL AHLAWAT

THANK YOU GOD FOR GIVING ME PARENTS AND THANK YOU FOR GIVING ME BIRTH. I AM A AUTHOR TODAY ONLY BECAUSE OF GOD, PARENTS AND PEOPLE WHO BLESSED ME AND SUPPORT ME. THANK YOU EVERYONE. STAY BLESSED STAY HAPPY. #BETI BACHAO BETI PADHAO #VISHAL AHLAWAT

24 replies on “तुम मेरा चेहरा जला सकते हो,        मेरी हिम्मत को नहीं।”

This is sad reality. Our society even teaches women not to get raped instead of teaching men not to rape. Something must be done and it should start with teaching men how to respect women, thus respecting themselves as well. What if the same thing is done to their mothers, sisters, girl friends or wives? Will they like it? Will they feel happy and proud about it?
I highly doubt so.

Liked by 3 people

Yes this is a terrible crime against the innocent. I just wish that newspapers and tv could report the crimes and remind everybody how pathetic the so called ‘men’ are for doing this to a woman. This makes me truly angry and you are right – it is up to us to teach our male children how appalling this crime is and that it cannot be tolerated and is a sign of weakness in a man, not strength.

Liked by 3 people

Yes…of course
U know when a single person speak his or her voice can be hear at a small distance but when a huge number of people raise voice then it will hear in whole world…..
So try to remove these evils…..
We need our women safe……
And women should be respected…..
They deserve respect
Bcoz a women gave birth to a baby,,,,,by struggle,,,nd leave her own house own family,,,,,,start a new life with strangers,,,,,,so girls should given more importance and respect in society

Liked by 2 people

Yes Nikita….
Sometimes should be done…..bcoz if this happens then our future will destroy no one give birth to girl child and so many bad boys got birth so girls should be given a good treatment and make them strong to be the best and fight against bad things…..
If they done wrong so why u don’t raise your voice against them…
This is the right time to raise voice
Bcoz if u raise ur voice now then maybe out of 100 ,20 will understand but one day maybe all get understand so….raise your voice otherwise someday ur voice will not raise……

Liked by 1 person

Even victims of rape cases with highly strong evidences against the assaulters or murderers are failing to meet justice in our govt. courts..all these have been quite common in our courts which rarely give better punishment to the accused..

Liked by 2 people

in our so called society a porn star can get respect….but a victim of such case could not even survive because she will be treated like , all fault was her and it seems like she has done something wrong….its really very horrible…

Liked by 3 people

Yes u r right……
They are treated like that all had done by their own but they don’t fell fear that it will bs happen to their daughter n wife….
So,,,,,give respect to girls….
And give punishment to those rascals

Liked by 2 people

Leave a Reply

Please log in using one of these methods to post your comment:

WordPress.com Logo

You are commenting using your WordPress.com account. Log Out /  Change )

Twitter picture

You are commenting using your Twitter account. Log Out /  Change )

Facebook photo

You are commenting using your Facebook account. Log Out /  Change )

Connecting to %s